शेयर करें
Twitter

खेलपत्र नमस्कार। इन दिनों फुटबॉलर के लिए संन्यास लेने का सिलसिला चल रहा है। पहले जर्मनी के बेहतरीन स्ट्राइकर मारियो गोमेज ने अंतरराष्ट्रीय फुटबॉल से संन्यास लिया था और अब स्पेन के दिग्गज फुटबॉलर गेरार्ड पीके ने अंतरराष्ट्रीय फुटबॉल को अलविदा कह दिया है।

5 साल का बैन झेलने के बाद भी बांग्लादेश टीम में नहीं हुई वापसी

संन्यास लेने की वजह गेरार्ड ने इस साल विश्व कप 2018 में अपने टीम के बेकार प्रदर्शन से निराश होकर लिया है। बार्सिलोना के लिए स्पेनिश सुपर कप में सेविला के खिलाफ मुकाबले में गेरार्ड पीके ने उतरने से पहले स्पेन फुटबॉल टीम के मुख्य कोच लुईस एनरिके को अपने संन्यास के बारें में बता दिया था। पीके ने बताया कि उन्होंने अपने संन्यास लेने के फैसले के बारे में कोच को एक या दो हफ्ते पहले ही बता दिया था।

इसके साथ ही पीके ने कहा कि विश्व कप और यूरो कप जीतने तक का सफर शानदार रहा। मैं खुशकिस्मत हुं कि में इन दोनों ही सफलता का हिस्सा रहा। लेकिन अब मेरा ध्यान पूरी तरह से बार्सिलोना पर है।

एशिया कप में भारत-पाक मैच को लेकर पाक कप्तान ने कहा, हारने को तैयार रहें इंडिया!

मेरे पास तीन साल और हैं, जिसमें में अपने खेल को और भी ज्यादा बेहतर बना सकता हूं। आपको बता दें कि पीके ने स्पने के लिए 2009 में 4 गोल दागे थे और 2016 में 1 गोल किया था। विश्व कप 2018 में स्पेन पेनल्टी शूटआउट में 3-4 से करारी हार झेलकर टूर्नामेंट से बाहर हो गया था।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here