शेयर करें
Twitter

खेलपत्र नमस्कार। अमेरिका की स्टार टेनिस खिलाड़ी सेरेना विलियम्स पर अमेरिकी टेनिस एसोसिएशन ने यूएस ओपन के फाइनल मुकाबले में नियमों को तोड़ने के लिए 12.26 लाख रुपए यानी 17 हजार डॉलर का जुर्माना लगाया है। बता दें कि सेरेना महिला एकल के अपने फाइनल मुकाबले में जापान की नाओमी ओसाका से हार गई थी।

लगातार दो गेंदों पर हनुमा विहारी ने किया रुट-कुक को चलता, पहली पारी में जमाया अर्धशतक

सेरेना को एसोसिएशन ने तीन मामलों में जुर्माना लगाया है। इसमें मैच के दौरान कोचिंग लेने के लिए 2.88 लाख रुपए, रेकैट पटकने के लिए 2.16 लाख रुपए और चेयर अंपायर के साथ बदसलूकी करने के लिए 7.21 लाख रुपए का जुर्माना लगाया गया है।

ओसाका ने फाइनल मुकाबले के पहले सेट आसानी से जीत लिया था। दूसरे सेट में सेरेना ने वापसी की कोशिशें की थी। इस दौरान उनके कोच ने टिप्स देने के लिए कुछ इशारें किए।

इसके बाद चेयर अंपायर ने एक गेम का जुर्माना सेरेना पर लगा दिया। सेरेना ने कोच के इशारें को अंपायर ने नियमों का उल्लंघन माना गया। जिसके बाद अंपायर कार्लोस रामोस के फैसले के बाद सेरेना ने गुस्से में अपना रैकेट पटक दिया। इस वजह के कारण उन्हें चोर तक कह दिया गया।

जुर्माने के बाद सेरेना ने सफाई देते हुए कहा कि उन्होंने बेईमानी नहीं की। अंपायर ने उनके साथ लैंगिंक भेदभाव किया। एक गेम का जुर्माना लगाना ठीक नहीं था।

कुक ने आखिरी टेस्ट मैच को बनाया यादगार , ऐसे दी टीम इंडिया ने बंधाई

उन्होंने कहा कि पुरुषों के मुकाबलों में अगर यही होता तो अंपायर जुर्माना नहीं लगाते। आपको बता दें कि ग्रैंडस्लैम टूर्नामेंट में कोर्ट पर कोचिंग देना प्रतिबंधित है। लेकिन सभी मैचों में ऐसा करना मान्य है।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here