शेयर करें
Twitter

नई दिल्ली। पाकिस्तान के क्रिकेटरों का डोपिंग टेस्ट से पुराना नाता है। पाक के खिलाड़ियों के लिए डोपिंग टेस्ट पास करना काफी मुश्किल साबित हो रहा है। यही वजह है कि पाकिस्तान क्रिकेट टीम के बल्लेबाज अहमद शहजाद अपने घरेलू टूर्नामेंट के दौरान डोप टेस्ट में फेल रहें।

बर्थडे स्पेशल: जब अंपायर ने मैदान पर काटे सुनील गावस्कर के बाल

जिसके बाद उन पर करीब चार साल का बैन लग सकता है। 26 साल के शहजाद के लिए ये बड़ा झटका हो सकता है। वहीं पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (पीसीबी) ने खबर की पुष्टि करते हुए कहा कि शहजाद को प्रतिबंधित पदार्थों के सेवन का दोषी पाया गया है।

आपको बता दें कि शहजाद को साल 2017 में वेस्टइंडीज दौरे के बाद टेस्ट टीम से बाहर कर दिया गया था। जिसके बाद उन्होंने बीत साल अक्टूबर से कोई भी एकदिवसीय मैच नहीं खेला है। लेकिन शहजाद ने पिछले महीने ही पाक की तरफ से दो अंतरराष्ट्रीय मैच खेले थे जिनमें उन्होंने 14 और 24 रन बनाए थे। वहीं जिम्बाब्बे के खिलाफ ट्राई सीरीज में शहजाद को नहीं खिलाया गया था।

तो इस वजह से वापस लिया श्रीकांत ने थाईलैंड ओपन से अपना नाम

पाकिस्तान के ये खिलाड़ी भी पाए गए डोपिंग के दोषी

पाकिस्तान के क्रिकेट खिलाड़ियों के लिए डोपिंग टेस्ट में फेल होना आम बात है। साल 2006 में पाकिस्तान के तेंज गेंदबाज शोएब अख्तर और मोहम्मद आसिफ को डोपिंग टेस्ट का दोषी पाया गया था। जिसने पाकिस्तान क्रिकेट टीम को बुरी तरह हिला दिया था। वहीं 2015 में बाएं हाथ के स्पिनर गेंदबाज रजा हसन, यासिर शाह और अब्दुल रहमान को भी डोपिंग का दोषी पाया गया था।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here