शेयर करें
twitter

खेलपत्र नमस्कार। भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड ने रविवार को कोलकाता में मीटींग कर फैसला लिया है कि अब घरेलू लीगों में इस साल कोई भी बाहरी प्रदेशों का खिलाड़ी नहीं खेल पाएगा। वहीं बोर्ड ने बताया कि वे आगे चलकर जल्द इस मामले में कोई ना कोई नतीजा निकालना चाहता है।

लंकाई टीम को बड़ा झटका, टीम के इस खिलाड़ी को किया बैन

आपको बता दें कि बीसीसीआई को ऐसा इसलिए करना पड़ रहा है क्योंकि तमिलनाडु क्रिकेट बोर्ड ने तमिलनाडु क्रिकेट लीग (टीएनपीएल) और कर्नाटक क्रिकेट संघ ने कर्नाटक प्रीमियर लीग (केपीएल) को देखते हुए अन्य राज्य संघों ने भी अपने राज्य में घरेलू टी-20 क्रिकेट लीग कराए जाने की बीसीसीआई से मांग की थी।

वहीं इस बैठक में बोर्ड के कार्यकारी अध्यक्ष सीके खन्ना ने कार्यकारी सचिव अमिताभ चौधरी और कोषाध्यक्ष अनिरुद्ध चौधरी के साथ तकनीकी समिति के चेयरमैन भारत के पूर्व कप्तान सौरव गांगुली मौजूद रहे थे।

मिली जानकारी के मुताबिक उन्मुक्त चंद, शेल्डन जैक्सन, हनुमा विहारी जैसे बेहतरीन खिलाड़ियों को सीओए ने तमिलनाडु प्रीमियर लीग (टीएनपीएल) में भाग लेने से रोक दिया था।

18 मैंचों 1000 रन बनाकर पाक के फखर जमान ने तोड़ रिकॉर्ड

वहीं बोर्ड के एक अधिकारी ने बताया कि तमिलनाडु प्रीमियर लीग में इस साल कोई भी रास्ता नहीं निकल पाया है, लेकिन ऐसे में बोर्ड कोई ना कोई हल निकाल ही लेगा। इसके साथ ही बोर्ड के ज्यादातर सदस्यों को लगता है कि खिलाड़ियों को लीग में खेलने से नहीं रोका जाना चाहिए।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here