शेयर करें
MS DHONI 1
Twitter/ Is update

खेलपत्र नमस्कार। आईसीसी (अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद) ने अपने ट्विटर के द्वारा दुनिया के तमाम खिलाड़ियों को चेताया है। जी हां सहीं सुना आपने टीम इंडिया के पूर्व कप्तान और दिग्गज खिलाड़ी महेंद्र सिंह धोनी जहां विकेट के सामने बेहतरीन खेलते है वहीं विकेट के पीछे भी उनका कहर बल्लेबाजों बना रहता है।

सीरीज जीतकर हार गई टीम इंडिया, ये रही हार की वजह

यानी अगर टीम इंडिया के खिलाफ अगर कोई भी टीम का खिलाड़ी बल्लेबाजी करता है तो उसको टीम इंडिया के गेंदबाजों के अलावा टीम के विकेटकीपर से भी बच कर खेलना होगा। क्योंकि एक पल के लिए गेंदबाजों के द्वारा खिलाड़ी अपना विकेट बचा सकता है लेकिन विकेट के पीछे खड़े धोनी से वो नहीं बच सकते ।

इसी को देखते हुए आईसीसी ने अपने ट्वीट कर कहा है कि सावधान रहिए। विकेट के पीछे महेंद्र सिंह धोनी हैं, क्रीज न छोंड़े। बताते चलें कि आईसीसी ने विश्व कप से पहले दुनिया के सभी क्रिकेटर्स को नसीहत देते हुए अपने ट्विटर से यहां संदेश दिया है।

इससे पहले रविवार को न्यूजीलैंड के खिलाफ सीरीज के आखिरी वनडे मैच में एक रन आउट ने मैच का नक्शा ही बदल दिया और इसके लिए 37 साल के विकेटकीपर धोनी को माना गया है। वहां रन आउट धोनी ने इस अंदाज से लिया जिससे न्यूजीलैंड की टीम बैकफुट पर पहुंच गई और मैच गंवा बैठी।

सीरीज के आखिरी मैच में टीम इंडिया ने 253 रनों का लक्ष्य दिया था जिसका पीछे करने उतरी न्यूजीलैंड की टीम ने 6 विकेट खोकर 176 रन बना दिए थे। उस समय क्रीज पर जेम्स नीशाम मौजूद थे। वह 7-8 ओवरों में मैच खत्म कर सकते थे। लेकिन 37वें ओवर की दूसरी गेंद में कुछ ऐसा हुआ जिसकी वजह से किवियों की हार सुनिश्चित हो गई।

IND vs NZ: अंडर 19 हीरो वनडे में रहें जीरो, शुभमन गिल डेब्यू मैच में नहीं कर सके कमाल

केदार जाधव की गेंद पर धोनी ने नीशाम के खिलाफ एलबीडब्ल्यू की अपील की, जिसे अंपायर शॉन जॉर्ज ने खारिज कर दिया। जिसके बाद नीशाम क्रीज छोड़कर आगे आ गए थे कि विकेट के पीछे धोनी ने पलक झपकते ही नीशाम को रन आउट कर दिया। इस अजीबोगरीब तरीके से नीशाम के रन आउट होने के साथ ही न्यूजीलैंड की जीत पर पानी फिर गया और वह यहां मुकाबला हार गया।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here