शेयर करें
MS DHoni
Twitter/ BCCI

खेलपत्र नमस्कार। भारत ने पहले टेस्ट सीरीज और बाद में वनडे सीरीज जीतने के बाद करीब 70 साल बाद ऑस्ट्रेलिया में जीत का डंका बजाया है। भारत ने इस वनडे सीरीज जीतने के साथ ही साल 2018-19 में ऑस्ट्रेलियाई दौरे में बिना कोई सीरीज गंवाए हासिल किया है।

कंगारुओं के खिलाफ आखिरी वनडे में खलेगी इस खिलाड़ी की कमी

वनडे सीरीज के आखिरी मुकाबले में टीम इंडिया ने 7 विकेट से कंगारुओं को मात देकर सीरीज पर कब्जा किया था। बताते चले कि करीब 70 साल बाद टीम इंडिया ने पहली बाद ऑस्ट्रेलिया में एक ही दौरे पर दो सीरीज यानी टेस्ट और वनडे में कब्जा किया है।

ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ भारत ने तीन मैचों की टी-20 सीरीज में 1-1 की बराबरी की जबकि टेस्ट सीरीज में भारत ने 2-1 से ऐतिहासिक जीत दर्ज की और वनडे इंटनेशनल सीरीज में भी भारत ने 2-1 से सीरीज पर फतह की।

लेकिन टीम इंडिया को वनडे सीरीज में जीत दिलाने के लिए के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी का अहम योगदान रहा है। पहले वनडे मैच में उनके खराब प्रदर्शन के कारण उनकी फॉर्म को लेकर काफी आलोचना हुई थी। लेकिन उन्होंने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ तीन वनडे मैचों की सीरीज में लगातार हाफ सेंचुरी जड़कर धोनी ने आलोचकों को जवाब दे दिया।

इसी को देखते हुए ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान इयान चैपल का कहना है कि विश्व कप विजेता कप्तान धोनी को वनडे मैच का सबसे बेहतरीन फिनिशर बनाया हैं।

धोनी को हाल में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ उनकी विजयी पारियों के लिए मैन ऑफ द सीरीज चुना गया। ऑस्ट्रेलिया में भारत ने पहली वनडे सीरीज अपने नाम की। चैपल ने पूर्व भारतीय कप्तान की सूझबूझ और इतने लंबे समय तक खेलने के जज्बे को सलाम किया।

ऑस्ट्रेलिया से वापस आने के बाद हार्दिक पंड्या ने खुद को कर लिया है कमरें में बंद

चैपल ने धोनी की तारीफ में कहा कि मैच फिनिश करके जीत के साथ दिल भी जीत लेते है। धोनी इस तरह से शांत रहकर खेलते है वह ऐसा कोई भ्रम नहीं है क्योंकि ऐसे हालात में वह जिस तरह से खुद को बदलते है, वह इस बात का सबूत है कि उनका दिमाग ऐसी परिस्थिति में बेहतरीन ढंग से काम करते है।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here