शेयर करें
(चित्र: फेसबुक)

।।खेलपत्र नमस्कार।।

नई दिल्ली। क्रिकेट एक ऐसा खेल है, जिसे मौहल्ले के बच्चे, ग्राउंड में बड़े बच्चे खेलते हैं और इस बात की शर्त लगाते हैं कि कौन बनेगा अगला सचिन या धोनी। लेकिन आज हम किसी प्लेयर की नहीं बल्कि उन टीमों की बात करेंगे जिन्होंने एकदिवसीय क्रिकेट में रिकॉर्ड बनाकर अपना झंडा गाड़ा। टॉप-5 टीम जिन्होंने एकदिवसीय क्रिकेट में बनाया रिकॉर्ड-

इंग्लैंड: 481

दुनिया की नंबर 1 वनडे टीम इंग्लैंड ने मंगलवार देर रात ट्रेंट ब्रिज स्टेडियम में खेले गए तीसरे वनडे मैच में ऑस्ट्रेलिया को 242 रनों के विशाल अंतर से मात देते हुए पांच वनडे मैचों की सीरीज में 3-0 की अजेय बढ़त ले ली है।
इस मैच में दो रिकॉर्ड बने। एक तो इंग्लैंड ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 50 ओवर में छह विकेट के नुकसान पर 481 रन बनाए जो वनडे क्रिकेट की एक पारी में किसी भी टीम द्वारा बनाया गया सर्वोच्च स्कोर है।

दूसरा ऑस्ट्रेलियाई टीम को मैच में 242 रनों से करारी हार का सामना करना पड़ा है। यह ऑस्ट्रेलिया की रनों के लिहाज से वनडे क्रिकेट में अभी तक की सबसे बड़ी हार है। इससे पहले उसे वनडे में सबसे बड़ी हार 32 साल पहले न्यूजीलैंड के खिलाफ मिली थी।

इंग्लैंड: 444

इंग्लैंड टीम जब भी मैदान में उतरती है तो अपनी बल्लेबाजी से सबको धोकर रख देती है। पिछले 18 महीनों में एकदिवसीय क्रिकेट में कुछ आश्चर्यजनक बल्लेबाजी की पारी खेली है, और 2016 ओडीआई इतिहास में सबसे ज्यादा रन बनाकर पाकिस्तान की हवा टाइट कर दी, और 169 रन से मात दी।

अपने घर के मैदान पर एलेक्स हेल्स इंग्लैंड की सर्वोच्च ओडीआई पारी में पहुंचे, आखिरकार 1993 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ रॉबिन स्मिथ नाबाद 167 रन बनाकर पहले स्थान पर रहे, जबकि जोस बटलर ने इंग्लैंड के 22 गेंदों पर सबसे तेज पचास रन बनाये। क्योंकि उन्होंने श्रीलंका के 443 रनों से आगे जाके 3 विकेट पर 444 रन बनाये थे।
पाकिस्तान, असहज रूप से, 275 पर ही आउट हो गया, हालांकि मोहम्मद अमीर अपने 22 गेंदों में पचास रन पुरे किए, अच्छी पारी खेलने के बावजूद भी वो अपनी टीम को जीत नहीं दिला पाए।

श्रीलंका 443

श्रीलंका ने अपना विश्व रिकॉर्ड नीदरलैंड के खिलाफ एम्सटेल्विन में खेले जा रहे एकदिवसीय मैच में बनाया। इस मैच में श्रीलंका ने नौ विकेटों के नुकसान पर 443 रन बनाए।

इससे पहले एकदिवसीय मैचों में सर्वाधिक रनों का विश्व रिकॉर्ड 438 रनों का था जो दक्षिण अफ़्रीका ने साल 2006 में ऑस्ट्रेलिया के ख़िलाफ़ बनाया था। इस मैच में जयसूर्या ने 104 गेंदों पर 157 रन बनाए जबकि तिलकरत्ने ने 117 रन बनाए और नाबाद रहे।

जयसूर्या ने एक छक्का और 24 चौके मारे जबकि तिलकरत्ने ने दो छक्के और 14 चौके जड़े। श्रीलंका की इस पारी से सबसे ज़्यादा मायूसी मिली मध्यम गति के तेज़ गेंदबाज़ पीटर सेवर को जिन्होंने 10 ओवरों में एक विकेट के बदले 94 रन दिए।इससे पहले श्रीलंका ने वर्ष 1996 में केन्या के ख़िलाफ़ एकदिवसीय मैच में 398 रन बनाए थे।

दक्षिण अफ्रीका 439

18 जनवरी 2015 को वेस्टइंडीज के खिलाफ वनडे मैच के दौरान दक्षिण अफ्रीका ने 439 रन बनाए। जिसका पीछा करने के बावजूद भी वेस्टइंडीज जीत हासिल नहीं कर पाई और 148 रनों से हार गई। इस सीरीज में सबसे अच्छा प्रदर्शन धाकड़ बल्लेबाज एबी डिविलियर्स का रहा, जिन्होंने मात्र 31 गेंदों में वनडे इतिहास का सबसे तेज शतक जड़ा था।

पांच मैचों की सीरीज के दूसरे वनडे में दक्षिण अफ्रीका की टीम जब पहले बल्लेबाजी करने उतरी तो जैसे कि मैदान में रनों की आंधी सी आ गई। इस मैच में वेस्टइंडीज़ ने टॉस जीत कर दक्षिण अफ्रीका को बल्लेबाजी का न्यौता दिया था।

39 वें ओवर में बल्लेबाजी करने उतरे एबी डिविलयर्स ने अपनी 59 गेंदों में खेली गई 149 रनों की पारी के दौरान कुल 9 चौके मारे और 16 छक्के मारे थे। वहीं इस मैच में ओपनर हाशिम अमला ने 153 रनों की पारी खेली थी, वहीं दूसरे ओपनर रिले रोसो ने भी 128 रनों की शानदार पारी खेली थी।

दक्षिण अफ्रीका 438

दक्षिण अफ्रीका और ऑस्ट्रेलिया के बीच 5 वां वन डे अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट मैच 12 मार्च 2006 को जोहान्सबर्ग के न्यू वेंडरर्स स्टेडियम में खेला गया था। इस मैच ने कई क्रिकेट रिकॉर्ड तोड़ दिए, जिसमें पहले और दूसरी टीम पारी के स्कोर 400 रन से अधिक थे। ऑस्ट्रेलिया ने टॉस जीता और पहले बल्लेबाजी करने के लिए चुना। उन्होंने 1996 में केन्या के खिलाफ श्रीलंका द्वारा 398-5 के पिछले रिकॉर्ड को तोड़कर अपने 50 ओवरों में 434 रन बनाये।

जवाब में, दक्षिण अफ्रीका ने 438-9 रन बनाकर एक विकेट से एक विकेट से जीत दर्ज की। इस मैच को अब तक का सबसे बड़ा वन डे इंटरनेशनल मैच के रूप में देखा जाता है।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here