शेयर करें
Twitter

खेलपत्र नमस्कार। भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व तेज गेंदबाज आरपी सिंह ने क्रिकेट को हमेशा-हमेशा के लिए अलविदा कह दिया है। मंगलवार रात 32 साल के आरपी ने ट्विटर के जरिए उन्होंने ट्वीट कर अपने संन्यास की जानकारी साझा की।

यूएस ओपन से बाहर हुए रोजर फेडरर

आरपी सिंह ने लिखा 13 साल पहले 4 सितंबर 2005 को मैंने पहली बार टीम इंडिया की जर्सी पहनी थी। यह मेरी जिंदगी के खुशनुमा सफर की शुरुआत थी। आपको बता दें कि आरपी सिंह ने अपना आखिरी वनडे मुकाबला 2011 सितंबर में इंग्लैंड के खिलाफ कार्डिफ ने खेला था। उन्होंने 4 सितंबर 2005 में जिम्बाब्वे के खिलाफ वनडे खेलकर अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में पदार्पण किया था।

आरपी ने साल 2006 में पाकिस्तान के खिलाफ फैसलाबाद टेस्ट में डेब्यू किया था। आरपी ने अपने पहले ही मुकाबले में बेहतरीन खेल का प्रदर्शन कर किया जिसकी वजह से उन्हें मैन ऑफ द मैच बने। साल 2007 में पहले टी-20 विश्व कप में भारत को चैंपियन बनाने में आरपी ने अहम भूमिका निभाई थी।

फीफा 2018 के प्लेयर ऑफ द ईयर की लिस्ट में मेस्सी का नाम नहीं

अपने टेस्ट करियर में आरपी ने 14 टेस्ट मैचों में 40 विकेट लिए थे। वहीं उन्होंने अपनी बेहतरीन पारी में 59 रनों में 5 विकेट लिए थ। इसके साथ आरपी ने कुल 58 वनडे मुकाबले खेले जिनमें उन्होंने 69 विकेट झटके थे।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here