शेयर करें
Twitter

खेलपत्र नमस्कार। भारत और इंग्लैंड के बीच खेला जा रहा तीसरा टेस्ट मैच में भारत की बेहतरीन वापसी की बदौलत तीसरा टेस्ट जीतने से भारत मात्र एक विकेट दूर है। विराट ब्रिगेड ने मेजबान टीम को 521 रनों का लक्ष्य दिया था।

एशियाड खेलों में भारतीय महिला हॉकी टीम का जलवा, 21-0 से कजाकिस्तान को रौंदा

वहीं लक्ष्य का पीछा करने उतरी इंग्लैंड की टीम चौथे दिन के खेल में 311 रनों पर अपने 9 विकेट खो बैठी। इंग्लैंड टीम को अभी भी मुकाबला जीतने के लिए 210 रनों की अवाश्यकता है जबकि इस समय इंग्लैंड के पुछल्लें बल्लेबाज ही क्रीच पर मौजूद है। इंग्लैंड के बैटिंग ऑडर की कमर तोड़ने वाले भारतीय टीम के तेंज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह है जिन्होंने मात्र 85 रन देकर इंग्लैंड के पांच विकेट झटके है।

टीम इंडिया यह मुकाबला चौथे दिन ही जीत लेती अगर जोस बटलर और बेन स्टोक्स की बीच पांचवे विकेट के लिए 169 रनों की साझेदारी नहीं होती तो टीम के लिेए 50 रनों की उपयोगी साझेदारी आदिल राशिद और स्टुअर्ट ब्रॉड के बीच नौवें विकेट के लिए हुई। जिस वजह से भारत इस जीत को चौथे दिन ही सुनिश्चित नहीं कर पाया।

अगर भारतीय टीम यह मुकाबला जीत जाती है तो यह जीत इंग्लैंड की सरजमीं में भारत की सबसे बड़ी जीत होगी। 1986 में कपिल देव की कप्तानी में इंग्लैंड के खिलाफ लीड्स में टीम ने 279 रनों से जीत हासिल की थी।

एशियाई खेलों में गोल्ड जीतने वाले खिलाड़ियों को रेलवे का तोहफा, बनेंगें रेलवे में अफसर

टीम इंडिया ने इसके बाद साल 2014 में इंग्लैंड के विरुध 95 रनों से जीत हासिल की थी। जबकि इस बार अगर भारतीय टीम मुकाबला जीत जाती है तो विराट कोहली की कप्तानी में 32 साल बाद भारत की यह इंग्लैंड की जमीन पर सबसे बड़ी जीत होगी।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here