शेयर करें
TWITTER

खेलपत्र नमस्कार। जर्मन के दिग्गज फुटबॉल खिलाड़ी मेसुत ओजिल ने अपने खिलाफ हुए नस्लीय व्यवहार के कारण अंतरराष्ट्रीय फुटबॉल से हमेशा हमेशा के लिए संन्यास ले लिया है।

धोनी ने बना डाला रिकॉर्ड, दिया सबसे ज्यादा टैक्स

वहीं ओजिल के आरोपो को जर्मन फुटबॉल संघ ने खारिज कर दिया है। इसके साथ ही संघ ने कहा है कि वह खिलाड़ियों के साथ बुरे व्यवाह को लेकर जल्द बड़ा कदम उठा सकते है।

जर्मन फुटबॉल संघ ने अपने एक निजी बयान में कहा है कि वे ओजिल के रॉष्ट्रीय टीम को छोड़ जाने से काफी दुखी है। हम किसी भी प्रकार के नस्लभेद से नहीं जुड़े है।

आपको बता दें कि ओजिल तुर्की मूल के जर्मन खिलाड़ी हैं। उन्होंने तुर्की के राष्ट्रपति रेसेप तायिप एर्डोगन के साथ फोटो ली थी। इस ही वजह से उनको जर्मनी के 2018 फीफा विश्व कप के ग्रुप स्तर से बाहर कर दिया गया था।

तो कोहली की इस बात से भड़के एंडरसन

इसके साथ ही उनको धमकियां दी जाने लगी और उन पर नस्लभेदी टिप्पाणियां भी की जाने लगी। जर्मनी ने साल 2014 में फीफा विश्व कप जीता था। वहीं इस साल जर्मनी दक्षिण कोरिया से 0-2 से हारकर टूर्नामेंट से बाहर हो गई थी।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here