शेयर करें
Twitter

खेलपत्र नमस्कार। दुनिया के सबसे घातक गेंदबाजों में से एक साउथ अफ्रीका के तेज गेंदबाज डेल स्टेन ने साल 2019 के विश्व कप के बाद क्रिकेट से संन्यास लेने का फैसला कर लिया है।

अन्य खिलाड़ियों की तुलना में मेरा डोप टेस्ट ज्यादा बार हुआ: सेरेना विलियमस

स्टेन ने ये फैसला अपनी बढ़ती उम्र का हवाला देते हुए लिया है। वहीं उन्होंने कहा कि उनकी उम्र के हिसाब से अब सीमित ओवरों में खेलना ही ठीक रहेगा। स्टेन ने कहा कि 2019 के विश्व कप में उनकी उम्र 36 साल हो जाएगी और 2023 में होने वाले विश्व कप में वो 40 साल के हो जाएगे तब उनके लिए खेल पाना मुश्किल होगा।

डेल स्टेन ने एक इंवेट के दौरान बताया कि आने वाले साल में इंग्लैंड में होने वाले विश्वकप के लिए उन्हें ज्यादें अनुभव के चलते टीम में जगह मिल जाएगी।

स्टेन ने कहा कि टीम में 6 ऐसे बल्लेबाज है जिन्होंने करीब 1 हजार मैच खेले है जबकि कुछ ऐसे खिलाड़ी है जो सिर्फ 150 ही मैच खेल पाए है। ऐसे में किसी भी टीम को एक अनुभवी खिलाड़ी की जरुरत होती है जो टीम के लिए बेहतर प्रदर्शन करें। डेल स्टेन ने कहा कि उनको टीम में जगह अगर उनके अनुभव से मिलती है तो ये उनके लिए खुशी की बात है।

जब नशे में धुत मैक्सवैल सड़क पर गिरे मिले

अगर डेल स्टेन के करियर की बात करें तो उन्होंने साउथ अफ्रीका के लिए अभी तक 88 टेस्ट मैच 116 वनडे और 42 टी-20 मैच खेले हैं। टेस्ट मैचों में डेल स्टेन ने अबतक 421 विकेट झटके है वहीं वनडे में 180 विकेट लिए है। स्टेन ने टी-20 जैसे छोटे फॉर्मेट में करीब 58 विकेट लिए है।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here