शेयर करें
Twitter

खेलपत्र नमस्कार। न्यूजीलैंड के विस्फोटक बल्लेबाज ब्रेंडन मैक्कुलम ने आज ही के दिन यानी 20 फरवरी 2016 को एक विश्व रिकॉर्ड बना दिया जिसको आज तक कोई भी खिलाड़ी नहीं तोड़ पाया है। ब्रेंडन ने अपने अंतरराष्ट्रीय करियर में गेंदबाजों के लिए काल बन गए थे।

जब तक सरकार नहीं कहेंगी, तब तक नहीं खेलेंगे पाक के साथ कोई भी मैच

खैर बात पर आते है उन्होंने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ क्राइस्टचर्च में सीरीज के दूसरे टेस्ट मैट के पहले दिन मैक्कुलम ने न्यूजीलैंड की पहली पारी में महज 54 गेंदों पर शतक जड़ दिया था। मैक्कुलम ने टेस्ट क्रिकेट में सबसे कम गेंदों में शतक पूरा करने का रिकॉर्ड अपने नाम दर्ज किया था।

बता दें कि उस समय मैक्कुलम टीम की कमान भी संभाल रहें थे और अपनी विस्फोटक पारी खेलकर उन्होंने विवियन रिचर्ड्स और पाकिस्तान के मिस्बाह उल हक का रिकॉर्ड भी तोड़ दिया था। मैक्कुलम से पहले यहां रिकॉर्ड 56 गेंदों पर मिस्बाह उल हक और विवियन रिचर्ड्स ने बनाया था।

इस पारी को इसलिए भी याद किया जाता है क्योंकि मैक्कुलम की उस पारी से पहले उनकी टीम के 32 रनों पर तीन विकेट गिर चुके थे जिसके बाद उन्होंने टीम की कमान संभाली और अपनी विस्फोटक पारी खेलकर रिकॉर्ड बनाया। उस पारी में जब मैक्कुलम खेलने आए मैच की दूसरी गेंद पर उन्होंने चौका मार कर बता दिया था कि वहां मैदान पर टीम को जीत दिलाकर ही पवेलियन लौटेंगे।

अपनी पारी के दौरान उनको जीवनदान भी मिला। जब मैक्कुलम 39 रनों पर खेल रहे थे तब वहां कैच आउट भी हुए लेकिन वहां गेंद नो बॉल निकली जिसकी वजह से उनको अपने गेंम में बनें रहने का मौका मिला और जमकर प्रहार किया। ब्रेंडन मैक्कुलम ने 79 गेंदों पर उस दिन 145रनों की बेहतरीन पारी खेली।

ICC ने बोल्ट और महमुदुल्ला पर लगाया जुर्माना, कर दी थी यहां शर्मनाक हरकत

ब्रेंडन मैक्कुलम की इस पारी की बदौलत न्यूजीलैंड की टीम ने 370 रनों का टारगेट खड़ा किया लेकिन इस टेस्ट मैच का नतीजा टीम के खिलाफ रहा और न्यूजीलैंड की टीम ने यहां मुकाबला 7 विकेट के गिराया और वह सीरीज 0-2 से हार गई। मैक्कुलम ने इसके साथ ही अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से अलविदा कह दिया। यहां उनके करियर का 101वां टेस्ट था जो सभी को याद रहा।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here