शेयर करें
Twitter

खेलपत्र नमस्कार। भारतीय महिला हॉकी टीम आज जापान को मुकाबले में पराजित कर गोल्ड मेडल जीतने मैदान पर उतरेगी। अगर भारतीय टीम इस मुकाबले में गोल्ड मेडल जीत जाती है तो उसे लगातार दो बार ओलंपिक में खेलने का भी सम्मान मिलेगा।

जमैका के तेज धावक उसैन बोल्ट फुटबॉल में करेंगे डेब्यू

जापान और भारत के बीच फाइनल मुकाबला आज शाम 6.30 बजे से खेला जाएगा। भारत ने इससे पहले 1982 में हुए नौवें एशियाई खेलों में पहली बार गोल्ड मेडल जीता था।

इससे पहले भारतीय महिला हॉकी टीम ने अपने सेमीफाइनल मुकाबले में चीन को 1-0 से शिकस्त दी थी। इस मुकाबले के 52वें मिनट में टीम की डिफेंडर गुजरीज कौर ने पेनल्टी कॉर्नर के जरिए गोल कर भारत को 1998 के बाद पहली बार एशियाई खेलों में फाइनल तक पहुंचाया।

भारतीय महिला टीम ने इन खेलों में अबतक एक गोल्ड, एक रजत और तीन कांस्य पदक जीते है। अभी तक के सभी मुकाबले में भारतीय टीम एक बार भी नहीं हारी है। जिससे टीम के सभी खिलाड़ी आत्मविश्वास से भरे हुए है।

भारत ने इस टूर्नामेंट में इंडोनेशिया को 8-0 से कजाकिस्तान को 21-0 से साउथ कोरिया को 4-1 और थाईलैंड को 5-0 से हरा दिया था।

इंग्लैंड दौर के बाद टीम इंडिया का मुकाबला वेस्टइंडीज से, 4 अक्टूबर से होगी सीरीज शुरू

वहीं भारतीय महिला हॉकी टीम से फाइनल मुकाबले में भी आक्रमण खेलना होगा। एशियाई खेलों में हॉकी के फाइनल मुकाबले को लेकर भारतीय महिला हॉकी टीम की कप्तान रानी रामपाल ने कहा जापान के खिलाफ फाइनल मुकाबला रोमांचक होगा। हम मैच जीतने के लिए अपना बेस्ट देंगे।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here