शेयर करें
Twitter

खेलपत्र नमस्कार। वियतनाम ओपन के फाइनल मुकाबले में भारतीय बैडमिंटन टीम के खिलाड़ी अजय जयराम को हार झेलनी पड़ी है। इस हार की ही बदौलत जयराम को वियतनाम ओपन में रजत पदक मिला है।

5 साल का बैन झेलने के बाद भी बांग्लादेश टीम में नहीं हुई वापसी

पुरुष एकल वर्ग के फाइनल मुकाबले में जय राम का सामना इंडोनेशिया के खिलाड़ी शेसार हिरेन रुस्तावितो से हुआ था। करीब 28 मिनटों तक चले इस खिताबी मुकाबले में रुस्तावितो ने सीधे गेमों में 21-14, 21-10 से मात देकर टाइटल अपने नाम कर लिया। इसके साथ ही साल 2013 के थाईलैंड ओपन में भारतीय खिलाड़ी से मिली हार का बदला भी ले लिया।

मुकाबले की शुरुआत से ही इंडोनेशियाई खिलाड़ी ने जयराम पर दबाव बनाकर रखा था। उन्होंने भारतीय खिलाड़ी को पहले 5-2 से मुकाबले में पीछे किया, लेकिन जयराम ने मुकाबले के स्कोर को 9-10 पर ले गए इसके बावजूद भी रुस्तावितो तेज निकलकर पहले गेम में जयराम को 21-14 से हरा दिया।

वहीं खिताबी मुकाबले के दूसरे सेट की बात करें तो यहां पर भी इंडोनेशियाई खिलाड़ी ने बाजी मारते हुए सेट को 21-10 से जीत कर खिताब पर कब्जा कर लिया।

एशिया कप में भारत-पाक मैच को लेकर पाक कप्तान ने कहा, हारने को तैयार रहें इंडिया!

मुकाबले के बाद जयराम ने बयान देते हुए कहा कि मुझे इस टूर्नामेंट में रजत पदक मिला है। लेकिन फाइनल मुकाबले के बारें में बता पाना मुश्किल है। मैनें अपने खेल की खराब शुरुआत की और ऐसे में अपनी लय को सही तौर पर हासिल नहीं कर पाया। इस वजह से में मुकाबले में वापसी नहीं कर सका।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here